Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

दिल्ली की राजधानी क्या है | Delhi Rajdhani History & Info

दिल्ली की राजधानी क्या है | Delhi ki Rajdhani ka Itihas & Info Kya Hai? इससे जुड़े हुए सवाल का जवाब इस पोस्ट में दिया गया है. अगर आपका भी ऐसा कुछ सवाल है या आप Delhi Capital के बारे में जानना चाहते है तो इस लेख को पढ़ना जारी रखिये.

Delhi ki Rajdhani Kya Hai & Kaha Hai

Janiye Bharat me Delhi Rajdhani Kya hai

दिल्ली India का एक केंद्र-शासित state और metro city है। इसमें नई दिल्ली सम्मिलित है जो Bharat ki Rajdhani है। Delhi Rajdhani होने के नाते केंद्र सरकार की तीनों इकाइयों – कार्यपालिका, संसद और न्यायपालिका के मुख्यालय नई दिल्ली और दिल्ली में स्थापित हैं.
Area of Delhi : 1483  वर्ग किलोमीटर में फैला दिल्ली जनसंख्या के तौर पर भारत का दूसरा सबसे बड़ा महानगर है। यहाँ की जनसंख्या लगभग 1  करोड़ 70  लाख है। यहाँ बोली जाने वाली मुख्य languages हैं : हिन्दी, पंजाबी, उर्दू और अंग्रेज़ी।
भारत में Delhi का ऐतिहासिक महत्त्व है। इसके दक्षिण पश्चिम में अरावली पहाड़ियां और पूर्व में Yamuna River है, जिसके किनारे यह बसा है। यह प्राचीन समय में गंगा के मैदान से होकर जाने वाले वाणिज्य पथों के रास्ते में पड़ने वाला मुख्य पड़ाव था।
आपका सवाल Delhi ki rajdhani kya hai? इसका जवाब आपको मिल गया होगा की Delhi खुद भारत की राजधानी है. अब जानिए की दिल्ली का इतिहास क्या है.
इनकी सवाल भी जानिए:

दिल्ली का इतिहास / Delhi पहले क्या थी ?

Yamuna River के किनारे स्थित इस city का गौरवशाली पौराणिक history है। यह भारत का अति प्राचीन नगर है। इसके इतिहास का प्रारम्भ सिन्धु घाटी सभ्यता से जुड़ा हुआ है। Hariyana के आसपास के क्षेत्रों में हुई खुदाई से इस बात के प्रमाण मिले हैं। महाभारत काल में इसका नाम इन्द्रप्रस्थ था।
दिल्ली सल्तनत के उत्थान के साथ ही दिल्ली एक प्रमुख राजनैतिक, सांस्कृतिक एवं वाणिज्यिक शहर के रूप में उभरी। यहाँ कई प्राचीन एवं मध्यकालीन इमारतों तथा उनके अवशेषों को देखा जा सकता हैं। 1639  में मुगल बादशाह शाहजहाँ ने दिल्ली में ही एक चारदीवारी से घिरे शहर का निर्माण करवाया जो 1379  से 1857 तक मुगल साम्राज्य की राजधानी रही।
18 वीं एवं 19 वीं शताब्दी में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने लगभग पूरे भारत को अपने कब्जे में ले लिया। इन लोगों ने कोलकाता को अपनी राजधानी बनाया। 1911  में अंग्रेजी सरकार ने फैसला किया कि राजधानी को वापस दिल्ली लाया जाए। इसके लिए पुरानी दिल्ली के दक्षिण में एक नए नगर नई दिल्ली का निर्माण प्रारम्भ हुआ। अंग्रेजों से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त कर नई दिल्ली को Bharat ki Rajdhani घोषित किया गया।
स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात् दिल्ली में विभिन्न क्षेत्रों से लोगों का प्रवासन हुआ, इससे दिल्ली के स्वरूप में आमूल परिवर्तन हुआ। विभिन्न प्रान्तो, धर्मों एवं जातियों के लोगों के दिल्ली में बसने के कारण दिल्ली का शहरीकरण तो हुआ ही साथ ही यहाँ एक मिश्रित संस्कृति ने भी जन्म लिया। आज दिल्ली भारत का एक प्रमुख राजनैतिक, सांस्कृतिक एवं वाणिज्यिक केन्द्र है।
Ye Bhi Jaroor Janiye:

दिल्ली के बारे में रोचक तथ्य :-

1. अंग्रेजों ने 1911-1912 में कोलकाता से Delhi को Rajdhani बना दिया था।
2. देश का सबसे बड़ा कमर्शियल सेंटर  मतलब सबसे ज्यादा काम करने वाला केंद्र दिल्ली हैं। यहां पर हर दिन लगभग 1,440,000 लोग jobs पर जाते हैं।
3 . Delhi में 50 से ज्यादा फायर ब्रिगेड स्टेशन हैं। और यहां 3000 से अधिक फायर फाइटर काम करते हैं।’
4. कोलकाता के ईडन गार्डन के बाद, Delhi का फिरोज शाह कोटला स्टेडियम देश का सबसे पुराना stadium है।
5. Delhi Metro Rail, जो लगभग 277 km की दूरी तय करती हैं। यह पूरी दुनिया के सबसे बड़े नेटवर्क में से एक हैं।
6. इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दक्षिण एशिया का सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में से एक हैं। यहां एक दिन में सैंकड़ो flight उड़ान लेती और उतरती हैं।
7. दिल्ली का सबसे पुराना Spices Market खारी बावली एशिया के सबसे बड़े थोक मसाला बाजारों में से एक हैं।
8. Delhi अपने पारदर्शी शासन और प्रशासनिक प्रथाओं के लिए भारत के 21 शहरों में से 5 वें स्थान पर हैं।
9. 72.5 मी. (238 फुट ) ऊँची क़ुतुब मीनार, विश्व की सबसे ऊँची  मीनार है यह दिल्ली में स्थित हैं.
10. ऑटो एक्सपो, एशिया का सबसे बड़ा ऑटो प्रदर्शनी हो जोकि दिल्ली के प्रगति मैदान में दो वर्ष के बाद आयोजित किया जाता हैं.

दिल्ली में पर्यटन स्थल क्या क्या है? Tourist Attractions in Delhi:-

1) इंडिया गेट कहाँ है?

India Gate, Delhi
India Gate, Delhi
Delhi के सभी मुख्य आकर्षणों में से पर्यटक, इंडिया गेट जाना सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। दिल्ली के ह्रदय में स्थापित यह भारत के एक राष्ट्रीय स्मारक के रूप में शान से खड़ा है। 42 मी. ऊंचे इस स्मारक का निर्माण पेरिस के आर्क-डी-ट्राईओम्फे की तरह किया गया है।
2) कुतुब मीनार कहाँ है?
मेहरौली, दिल्ली में स्थित कुतुब मीनार एक बहुत ही प्रसिद्ध आकर्षण मीनार और कई प्रचीन ऐतिहासिक इमारतों का घर है। यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर के रूप में घोषित इसमें कई संरचनायें गुलाम वंश की हैं। इस स्थल का प्रबन्धन बहुत ही अच्छे ढंग से किया गया है जिससे कि यह पर्यटक आकर्षण होने के साथ-साथ Delhi का एक लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट भी है।
3) गुरूद्वारा बंग्ला साहिब  कहाँ है?
गुरूद्वारा बंग्ला साहिब New Delhi में सिक्खों का एक प्रसिद्ध आकर्षण है। कनॉटप्लेस के पास स्थित अपने सुनहरे गुम्बद के साथ यह एक प्रभावशाली संरचना है और सिक्खों के 8वें गुरू गुरू हरकिशन से जुड़े होने के कारण प्रसिद्ध है।
4) राष्ट्रपति भवन  कहाँ है?
Rashtrapati Bhavan भारत में मौजूद सबसे प्रतिष्ठित इमारतों के अलावा अपनी प्रभावशाली वास्तुकला के और भारत के राष्ट्रपति के सरकारी निवास स्थान के रूप में जाना जाता है। ये इमारत तब अस्तित्व में आयी जब देश की राजधानी  को कोलकाता से दिल्ली स्थानांतरित करा गया।
5) हुमायूँ का मकबरा  कहाँ है?
Humayun's-Tomb-Delhi-India
Humayun’s-Tomb-Delhi-India
मुगल सम्राट हुमायूँ का मकबरा दिल्ली के प्रसिद्ध पुराने किले के पास स्थित है। इस मकबरे को हुमायूँ की याद में उनकी पत्नी हामिदा बानो बेगम द्वारा ने सन् 1562 में बनवाना शुरू किया था जबकि संरचना का डिज़ाइन मीरक मिर्ज़ा घीयथ नामक पारसी वास्तुकार ने बनाया था।
6) जामा मस्जिद  कहाँ है?
Jama Masjid भारत की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है। इस मस्जिद को सम्राट शाहजहां द्वारा बनवाया गया था। इस मस्जिद का निर्माण 1650 में शुरू किया गया था जो 1656 में पूरा हुआ।
7) पुराना किला कहाँ है? 
Delhi का पुराना किला एक रोचक पर्यटक स्थल है। दिल्ली के सभी किलों में सबसे पुराना होने के साथ-साथ यह दिल्ली की सभी संरचनाओं में भी सबसे पुराना भी है और यह इन्द्रप्रस्थ नामक स्थान पर स्थित है जो कि एक विख्यात शहर था।
8) संसद भवन कहाँ है?
New Delhi में स्थित देश की सर्वोच्च विधि निर्माण संस्था संसद भवन एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है। Sansad Marg स्थित इस आकर्षक वृत्ताकार संरचना में मंत्रियों के कार्यालय, विभिन्न कमेटी रूम और किताबों के एक विशाल संग्रह वाली सुन्दर library है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.