Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है | UP ki Rajdhani

सवाल : उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है / UP ki Rajdhani kya hai / What is Capital of Uttar Pradesh?

जवाब : दोस्तों GK के इस सवाल का जवाब आपको इस पोस्ट में दिया है. जवाब बहुत छोटा है, लेकिन हमने आपके लिए इस पोस्ट में थोड़ी और जानकारी संक्षिप्त में देने की कोशिश की है. Uttar Pradesh ki Rajdhani के बारे में आगे पढ़िए.

UP Ki Rajdhani & Lucknow, UttarPradesh ki Jankari

UP ki Rajdhani kya hai?

भारत के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य Uttar Pradesh ki Rajdhani Lucknow है। यह शहर अपनी खास नज़ाकत और तहजीब वाली बहुसांस्कृतिक खूबी, दशहरी आम के बाग़ों तथा चिकन की कढ़ाई के काम के लिये जाना जाता है।

Population of Lucknow: 2006  मे Lucknow की जनसंख्या 2,541,101 तथा साक्षरता दर 68.63% थी। भारत सरकार की 2001 की जनगणना, सामाजिक आर्थिक सूचकांक और बुनियादी सुविधा सूचकांक संबंधी आंकड़ों के अनुसार, Lucknow जिला अल्पसंख्यकों की घनी आबादी वाला जिला है। Kanpur के बाद यह शहर उत्तर-प्रदेश का सबसे बड़ा शहरी क्षेत्र है। शहर के बीच से गोमती नदी बहती है, जो Lucknow की संस्कृति का हिस्सा है।

Area of Lucknow :उत्तर प्रदेश की राजधानी – लखनऊ उस क्ष्रेत्र मे स्थित है जिसे ऐतिहासिक रूप से अवध क्षेत्र के नाम से जाना जाता था। Lucknow  हमेशा से एक बहुसांस्कृतिक शहर रहा है। यहाँ के शिया नवाबों द्वारा शिष्टाचार, खूबसूरत उद्यानों, कविता, संगीत और बढ़िया व्यंजनों को हमेशा संरक्षण दिया गया। Lucknow  को नवाबों के शहर के रूप में भी जाना जाता है। इसे पूर्व की स्वर्ण नगर (गोल्डन सिटी) और शिराज-ए-हिंद के रूप में जाना जाता है। आज का Lucknow  एक जीवंत शहर है जिसमे एक Economic Development दिखता है और यह भारत के तेजी से बढ़ रहे गैर-Mega Cities के शीर्ष पंद्रह में से एक है।

भाषाएँ:-
यह city हिंदी और उर्दू साहित्य के केंद्रों में से एक है। यहां अधिकांश लोग Hindi language बोलते हैं। यहां की हिन्दी में लखनवी अंदाज़ है, जो विश्वप्रसिद्ध है। इसके अलावा यहाँ Urdu और English भी बोली जाती हैं।
दोस्तों आपको Uttar Pradesh ki Rajdhani की जानकारी तो होगई है अब आपको इसके इतिहास और पर्यटन स्थान तथा यहाँ की ख़ास बाते आपको बताते है.
ये भी जानिए :

लखनऊ का इतिहास / History of Lucknow in Hindi

Lucknow प्राचीन कोसल राज्य का हिस्सा था। यह भगवान राम की विरासत थी जिसे उन्होंने अपने भाई लक्ष्मण को समर्पित कर दिया था. अत: इसे लक्ष्मणावती, Lakshmanpur या लखनपुर के नाम से जाना गया, जो बाद में बदल कर Lucknow हो गया। यहां से अयोध्या भी मात्र 80 मील दूरी पर स्थित है।

एक अन्य कथा के अनुसार इस शहर का नाम, ‘लखन अहीर’ जो कि ‘लखन किले’ के मुख्य कलाकार थे, के नाम पर रखा गया था। Lucknow के वर्तमान स्वरूप की स्थापना नवाब आसफ़ुद्दौला ने 1775  ई. में की थी। अवध के शासकों ने Lucknow  को अपनी राजधानी बनाकर इसे समृद्ध किया। लेकिन बाद के नवाब विलासी और निकम्मे सिद्ध हुए। इन नवाबों के काहिल स्वभाव के परिणामस्वरूप आगे चलकर लॉर्ड डलहौज़ी ने अवध का बिना युद्ध ही अधिग्रहण कर ब्रिटिश साम्राज्य में मिला लिया। 1850 में अवध के अन्तिम नवाब वाजिद अली शाह ने ब्रिटिश अधीनता स्वीकार कर ली। Lucknow  के नवाबों का शासन इस प्रकार समाप्त हुआ।

सन 1902  में नार्थ वेस्ट प्रोविन्स का नाम बदल कर यूनाइटिड प्रोविन्स ऑफ आगरा एण्ड अवध कर दिया गया। साधारण बोलचाल की भाषा में इसे यूनाइटेड प्रोविन्स या यूपी कहा गया।
सन 1920 में Uttar Pradesh (UP) ki Rajdhani को इलाहाबाद से बदल कर Lucknow कर दिया गया। UP state का उच्च न्यायालय इलाहाबाद ही बना रहा और लखनऊ में High Court की एक खंडपीठ स्थापित की गयी।
स्वतन्त्रता के बाद 12 जनवरी सन 1950 में इस क्षेत्र का नाम बदल कर Uttar Pradesh रख दिया गया और Lucknow इसकी राजधानी बना। इस तरह यह अपने पूर्व लघुनाम UP से जुड़ा रहा। गोविंद वल्लभ पंत इस प्रदेश के प्रथम मुख्यमन्त्री बने। अक्टूबर 1963 में सुचेता कृपलानी उत्तर-प्रदेश एवं भारत की प्रथम महिला मुख्यमन्त्री बनीं।

लखनऊ के बारे में रोचक बातें / Facts about Lucknow:-

1) Lucknow को प्राचीन काल में ‘लक्ष्मणपुर’ और ‘लखनपुर’ के नाम से जाना जाता था। कहा जाता है कि अयोध्या के श्री राम ने लक्ष्मण को Lucknow भेंट किया था।

2) Lucknow के वर्तमान स्वरूप की स्थापना ‘नवाब आसफ-उद-दौला’ द्वारा 1775 ई. में की गई थी, उन्हो ने इसे अवध के नवाबों की Capital के रूप में पेश किया था।
3) बढ़ती population को ध्यायन में रखते हुए यहां की कोठियों को appartments में बदल दिया गया है लेकिन यहां के लोगों में मोहब्बत और अपनापन अभी भी बाकी है।
4) यह वही शहर है जहां कई वाद्य यंत्र जैसे- सितार, टेबल और नृत्यट जैसे- कत्थंक आदि का जन्म  हुआ है।
5 ) लखनऊ, उर्दू और हिन्दीज भाषा का जन्मा स्थाबन है और इस शहर का भारतीय कविता और साहित्या में काफी योगदान भी रहा है।

UP की राजधानी में पर्यटन स्थल / Tourist Attractions in Lucknow:-

1) लखनऊ के सबसे important tourist places ‘बड़ा इमामबाड़ा’, ‘शहीद स्मारक’, ‘रेजीडेंसी‘ और ‘भूल-भुलैय्या‘ हैं। इसके अतिरक्त ‘छोटा इमामबाड़ा‘, ‘हुसैनाबाद क्‍लॉक टॉवर‘ और ‘पिक्‍चर गैलरी‘ भी दर्शनीय स्मारक हैं।
2) ‘चिड़ियाघर‘, ‘बॉटनिकल गार्डन‘, ‘बुद्ध पार्क‘, ‘कुकरैल फॉरेस्‍ट‘ और ‘सिंकदर बाग‘ जैसे प्राकृतिक छटा वाले स्‍थल Lucknow को खास और जरूरत से ज्‍यादा सुंदर बनाते है।
3) यहाँ  के ‘कैसरबाग पैलेस‘, ‘तालुकदार हॉल‘, ‘शाह नज़फ इमामबाड़ा‘, ‘बेगम हजरत महल पार्क‘ और ‘रूमी दरवाजा‘ आदि India के सबसे प्रभावशाली वास्‍तु संरचनाओं में से एक हैं।
4) Lucknow में देश के कई Higher Education & research institutes भी हैं। इनमें से कुछ हैं: ‘एस.जी.पी.जी.आई.’, ‘किंग जार्ज मेडिकल कालेज‘ और ‘बीरबल साहनी अनुसंधान संस्थान‘। यहां भारत के वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद की चार प्रमुख प्रयोगशालाएँ और ‘उत्तर प्रदेश राज्य ललित कला अकादमी’ हैं।
5) लखनऊ में छः विश्वविद्यालय हैं: ‘Lucknow University’, ‘उत्तर प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय’ (UPTU), ‘राममनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय’ (लोहिया लॉ वि.वि.), ‘बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय’, ‘AMITY University’ एवं ‘इंटीग्रल विश्वविद्यालय’।
6) UP ki Rajdhani Lucknow के ‘भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय’ का नाम यहां के महान संगीतकार ‘पंडित विष्णु नारायण भातखंडे’ के नाम पर रखा हुआ है। यह संगीत का पवित्र मंदिर है। श्रीलंका, नेपाल आदि बहुत से एशियाई देशों एवं worldwide से साधक यहां dance & music की साधना करने आते हैं।
7) World के सबसे पुराने आधुनिक स्कूलों में से एक ‘ला मार्टीनियर कॉलेज’ भी इस शहर में मौजूद है, जिसकी स्थापना ब्रिटिश शासक क्लाउड मार्टिन की याद में की गयी थी।
लखनऊ North India का एक प्रमुख बाजार एवं वाणिज्यिक नगर ही नहीं, बल्कि products एवं services का उभरता हुआ केन्द्र भी बनता जा रहा है। लखनऊ में transportation के सभी साधन उपलब्‍ध है जैसे- हवाई, रेल और सड़क मार्ग। Tourist देश-विदेश के किसी भी कोने से लखनऊ तक आसानी से पहुंच सकते है।  मौसम की दृष्टि से, लखनऊ के भ्रमण का सबसे अच्‍छा समय अक्‍टूबर से मार्च के दौरान होता है।
Friends आपको आपके सवाल Uttarpradesh yani UP ki Rajdhani Kya Hai इसका जवाब तो मिलगया, हम आशा करते है की आपको यह जवाब और information about Lucknow & places to visit in Lucknow पसंद आई होगी. कृपया अपनी राय कमेंट द्वारा हमें बताये. और इस पोस्ट को सोशल मीडिया और व्हाट्सअप्प में जरूर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.