YOUR EXISTING AD GOES HERE

BHEL ka Full Form | बीएचईएल क्या है? पूरा नाम & अन्य जानकारी

YOUR EXISTING AD GOES HERE

दोस्तों आज आपको BHEL ka Full Form क्या है,  बीएचईएल (भेल) क्या है?, भेल का इतिहास, भेल को प्राप्त अवार्ड्स की पूरी जानकारी इस पोस्ट में प्रदान की गयी है. तो आप आगे पढ़िए ..

 

YOUR EXISTING AD GOES HERE

बीएचईएल का फुल फॉर्म क्‍या है? BHEL Full Form & Info in Hindi

Full form of BHEL : बीएचईएल की फुल फॉर्म  -भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (Bharat Heavy Electricals Limited)है

YOUR EXISTING AD GOES HERE

यह  भारत सरकार द्वारा स्थापित और स्वामित्व में है, भारत के नई दिल्ली में स्थित एक विनिर्माण और इंजीनियरिंग कंपनी है। Bharat Heavy Electricals Limited की स्थापना 1964 में हुई थी।

जानिए भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड  क्या है?  (BHEL Wiki in Hindi):

जनवरी 2016 तक, श्री अतुल सोबती BHEL के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (CMD) हैं। पावर प्लांट उपकरण के अलावा, यह अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों जैसे पावर, ट्रांसपोर्टेशन (रेलवे), ट्रांसमिशन, ऑयल एंड गैस, वाटर एंड डिफेंस के विभिन्न उत्पादों के डिजाइन, इंजीनियरिंग, विनिर्माण, परीक्षण और सर्विसिंग पर काम करता है।

YOUR EXISTING AD GOES HERE

देश में उपलब्ध 35,000 मेगावाट बिजली में से, BHEL अकेले ही प्रतिवर्ष लगभग 20,000 मेगावाट उत्पन्न करता है। कंपनी के संचालन मुख्य रूप से 3 व्यावसायिक क्षेत्रों से संबंधित हैं जो पावर, इंडस्ट्री (Transmission, Transportation, Renewable Energy, और Telecommunication) और ओवरसीज बिजनेस हैं।

बीएचईएल इंजीनियरिंग उत्पादों और सेवाओं के सबसे बड़े निर्यातकों में से एक है। यह दुनिया के लगभग 60 देशों में निर्यात करता है। बीएचईएल द्वारा निर्यात किए गए कुछ प्रमुख उत्पाद पूर्ण बिजली स्टेशन,  EPC contracts, बिजली संयंत्रों के लिए टर्नकी अनुबंध, HV/EHV Sub-stations, परिचित प्रौद्योगिकियों के लिए O&M सेवाएं आदि हैं।

YOUR EXISTING AD GOES HERE

कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (CSR):

BHEL अपनी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (CSR) नीति का सख्ती से पालन करता है। यह सक्रिय रूप से बड़े पैमाने पर कार्य बल, स्थानीय समुदायों और समाज के जीवन की गुणवत्ता में सुधार में काम करता है।  CSR पर इसका मिशन स्टेटमेंट है “एक प्रतिबद्ध कॉर्पोरेट नागरिक बनें”। अपने CSR के तहत, इसने कई गांवों को गोद लिया है, नि: शुल्क चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया है, वंचितों और विकलांग बच्चों, पौधों के पेड़, फसल वर्षा जल आदि के लिए स्कूल स्थापित किया है।

दोस्तों ये info पोस्ट भी आप चेक करिए  :

  1. आई टी आई क्या है & ITI का पूरा नाम जानिए 
  2. आई आई एम क्या है, IIM फुल फॉर्म हिंदी में 
  3. जानिए आई आई टी फुल फॉर्म & IIT की जानकारी 

अब आपने बीएचईएल  फुल फॉर्म  जान लिया है अब इसके बारे में ज्यादा knowledge के लिए आगे पढ़िए.

बीएचईएल (भेल) क्‍या है? 

भेल भारत में सार्वजनिक क्षेत्र की इंजीनियरिंग व विनिर्माण क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी है। यह कंपनी भारत के नई दिल्ली में स्थित है। इसकी स्‍थापना 1964 में हुई थी, BHEL यानि कि भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड भारत का सबसे बड़ा बिजली उत्पादन उपकरण निर्माता है। । बीएचईएल की स्थापना को 50 साल से ज्‍यादा वक्‍त बीत चुका है.

इस कपंनी ने भारत में देशी भारी विद्युत उपस्कर उद्योग को जन्म दिया है। 2020 तक भेल का राजस्व 22,066.64 करोड़ (US $3.1 बिलियन) और उनकी शुद्ध आय 1,472.97 करोड़ (US$ -210 मिलियन) रही।

BHEL विभिन्न प्रकार के औद्योगिक सिस्टम और उत्पाद की एक अग्रणी निर्माता हैं। जो तेल और गैस जैसे प्रमुख उद्योगों की बढ़ती मांग धातुकर्म और खनन, उर्वरक, चीनी, उर्वरक, रिफाइनर, कागज और पेट्रो-रसायन आदि को पूरा करता है। इसके अलावा यह उद्योग क्षेत्र में captive power generation के लिए पूर्ण समाधान, transmission, transportation, renewable energy, water management, defense और अन्य औद्योगिक उत्पादों का संचालन भी प्रदान करता है।

भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL)  के अवार्ड्स

भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड को कई अवॉर्ड भी मिले हैं जो निम्‍नलिखित हैं:-

1-  2011 में फोर्ब्स द्वारा इसे दुनिया की नौवीं Most Innovative Company का स्थान दिया गया था।

2- इसने लगातार छठे वर्ष लागत प्रबंधन में उत्कृष्टता के लिए ICWAI National Award जीता।

3- व्यावसायिक स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए इसे Golden Peacock Award 2011 से सम्मानित किया गया है।

4- 2010 में, BHEL ने EEPC के लगातार 20 वें वर्ष के लिए Top Export Award जीता।

5- वर्ष 2006-07 में, इसने बाजार पूंजीकरण में उच्चतम विकास दर के लिए MoU Excellence Award पुरस्कार जीता।

6- इसे वर्ष 2013 में Maharatna Status दिया गया था।

7- अरिवालयम के लिए Pandit Madan Mohan Malaviya Bronze Award जीता।

8- इसने स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं में अपने योगदान के लिए Silver Plate award जीता।

9- CSR के क्षेत्र में, इसे सर्वश्रेष्ठ कैपिटल गुड्स कंपनी होने के लिए India Shining Award से सम्मानित किया गया।

10- अपने राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़े में इसके समर्थन और योगदान के लिए डॉ आर.पी. सेंटर फॉर ओफ्थैमिक साइंसेज, एम्स, नई दिल्ली से भी इसे मान्यता मिली।

भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड  (BHEL) का इतिहास: 

जैसा कि हम आपको ऊपर बात चुके हैं कि इस कंपनी की स्‍थापना 1964 में हुई थी। दरअसल, 1947 में आजादी मिलने के बाद देश के साथ आर्थिक और औद्योगिक विकास के लिए बुनियादी ढांचे और पूंजीगत वस्तुओं को मजबूत आधार प्रदान करने की सबसे बड़ी चुनौती थी।

भारत सरकार ने भारत में भारी विद्युत उपस्करों के निर्माण के लिए भोपाल में एक कारखाने की स्थापना के लिए एसोसिएटेड इलेक्ट्रिकल इंडस्ट्रीज (एईआई), ब्रिटेन के साथ 17 नवंबर, 1955 को एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।कंपनी को 29 अगस्त, 1956 को उद्योग और वाणिज्य मंत्रालय के अंतर्गत सार्वजनिक क्षेत्र में हेवी इलेक्ट्रिकल्स (इंडिया) लिमिटेड (एचई आई एल) के रूप में पंजीकृत किया गया था।

देश के योजनाकारों ने माना कि लंबे समय तक औद्योगिक विकास के लिए बिजली की पर्याप्त आपूर्ति पहली प्राथमिकता  थी। यह एक मजबूत घरेलू बिजली उपकरण उद्योग के साथ ही कायम रह सकता था। जिसके बाद, योजना आयोग ने विभिन्न परियोजनाओं के लिए आवश्यक सभी प्रकार के भारी विद्युत उपकरणों के निर्माण के लिए एक कारखाना स्थापित करने की दिशा में कदम उठाने की सिफारिश की। जिसके परिणामस्वरूप, भारत सरकार ने 17 नवंबर, 1955 को एसोसिएटेड इलेक्ट्रिकल इंडस्ट्रीज (AEI), यूके के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किया, जिसके लिए भारत में भारी बिजली के उपकरणों के निर्माण के लिए भोपाल में एक कारखाना स्थापित किया गया था।

कंपनी को 29 अगस्त, 1956 को उद्योग और वाणिज्य मंत्रालय के तहत सार्वजनिक क्षेत्र में हेवी इलेक्ट्रिकल्स (इंडिया) लिमिटेड (HE(I)L) के रूप में पंजीकृत किया गया था।

पहला संयंत्र तिरुचिराप्पल्ली (तमिलनाडु) में उच्च दबाव बॉयलर के लिए, दूसरा संयंत्र स्टीम टर्बो जनरेटर और उच्च दबाव पंप और कंप्रेसर के लिए हैदराबाद (तेलंगाना) में दोनों चेकोस्लोवाकिया की सहभागिता से और तीसरा संयंत्र बड़े भाप टर्बो जनरेटिंग सेट और मोटर्स एवं टर्बाइन तथा जेनरेटर सहित हाइड्रो जनरेटिंग सेट के लिए यूएसएसआर सहभागिता के साथहरिद्वार (उत्तराखंड) में स्थापित किया गया।

ये तीन नई परियोजनाएं हेवी इलेक्ट्रिकल्स (इंडिया) लिमिटेड का हिस्सा थीं, जिनके लिए भोपाल में काम शुरू किया गया था।सभी प्रारंभिक कार्य भोपाल से नवंबर 1964 तक किए गए।

सरकार ने इन तीन इकाइयों की स्थापना और प्रबंधन के लिए एक अलग निगम बनाने का फैसला किया। इस प्रकार, भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड अस्तित्व में आया और औपचारिक रूप से 13 नवंबर, 1964 को निगमित किया गया।

भारत में BHEL के केंद्र: 

भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड की भारत में कुल 13 केंद्र हैं। इसमें फैक्‍ट्रियां और प्‍लांट हैं, जो इस प्रकार से हैं। 

    1. दिल्‍ली – BHEL House
    2. कर्नाटक के बेंगलुरू- Electronics Division
    3. कर्नाटक के बेंगलुरू-Electro Porcelains Division
    4. तेलंगाना के हैदराबाद- Heavy Power Equipment Plant
    5. यूपी के झांसी- Transformer Plant
    6. यूपी के वाराणसी – Heavy Equipment Repair Plant
    7. मध्‍यप्रदेश के भोपाल – Heavy Electricals Plant
    8. हरिद्वार, उत्‍तराखंड  – Central Foundry Forge Plant
    9. हरिद्वार (उत्‍तराखंड) के – Heavy Electricals Equipment Plant
    10. उत्‍तराखंड के रूद्रपुर – Component Fabrication Plant
    11. तमिलनाडु के रानीपेट – Boiler Auxiliaries Plan
    12. तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली – High Pressure Boiler Plant
    13. महाराष्ट्र के मुंबई -Electrical Machine Repair Plant

इसमें 17 विनिर्माण इकाइयां, 2 मरम्मत इकाइयां, 4 क्षेत्रीय कार्यालय, 8 सेवा केंद्र, 8 विदेशी कार्यालय, 15 क्षेत्रीय केंद्र, 7 संयुक्त उपक्रम और बुनियादी ढांचे का एक नेटवर्क है. यह  इसे भारत और विदेशों में साइटों पर 150 से अधिक परियोजनाओं को निष्पादित करने की अनुमति देता है।

पूरे भारत में विभिन्न महत्वपूर्ण केंद्रों पर स्थित 15 विनिर्माण इकाइयों के विशाल नेटवर्क के साथ, BHEL गैस टरबाइन, स्टीम टर्बाइन, टर्बोगेनेरेटर, बॉयलर, पंप और हीट एक्सचेंजर्स, पल्वेराइज़र और इलेक्ट्रिकल स्विच गियर्स जैसे बिजली क्षेत्र के लिए आवश्यक लगभग सभी महत्वपूर्ण उच्च प्रौद्योगिकी उत्पादों का निर्माण करता है।

बीएचईएल 30 प्रमुख उत्पाद समूहों के साथ 180 से अधिक उत्पादों का विनिर्माण करता है और भारतीय अर्थव्यवस्था के मुख्य क्षेत्रों के लिए पूरा करता है। बिजली उत्पादन और प्रसारण, उद्योग, परिवहन, दूरसंचार, नवीकरणीय ऊर्जा, आदि हैं।

निष्कर्ष:

प्रिय पाठको , आपको इस पोस्ट में BHEL full form, BHEL Awards, History & Centers के साथ साथ बी .एच .ई .एल  क्या है  यह जानकारी दी. आशा है आपको यह भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड  की जानकारी जरूर पसंद आई होगी. अगर इसमें कोई त्रुटी या सुधार की जरूरत होतो हमें जरूर लिखिए.

अगर आपका कोई सवाल है तो कमेंट में जरूर लिखिए. हम उसका जवाब देने का प्रयास करेंगे.

इस जानकारी को अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों के साथ सोशल मीडिया & व्हाट्सअप्प  ग्रुप्स में जरूर शेयर करिए.

Leave a Comment

YOUR EXISTING AD GOES HERE
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: