Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

CBSE Full Form in Hindi | CBSE vs ICSE | सीबीएसई आईसीएसई

What is CBSE Full form in Hindi/ Janiye CBSE board ka full form kya hai:

दोस्तों आज आपको सीबीएसई के फुल फॉर्म के साथ में इसका मतलब (means), Board द्वारा आयोजित exams के बारे में information इस पोस्ट में देंगे. पूरी जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़िए. CBSE Full Form

Full Form of CBSE / फुल फॉर्म क्या है 

CBSE Full form – “Central Board of Secondary Education” है. यह एक Board of Education (शिक्षा मंडल) है जो कि ‘Union Government of India’ के अंतर्गत काम करता है। CBSE भी ICSE (Indian Certificate Of Secondary Education) की तरह ही Education Sector में BOE का काम करता है। CBSE से Government और Private (सरकारी और निजी) Schools Education उपलब्ध कराते हैं।

CBSE के Headquarters, New Delhi में स्थिति हैं। CBSE की मौजूदा Chairperson, Mrs. Anita Karwal हैं जिन्होंने 31 अगस्त 2017 को यह पद लिया था।

History of CBSE Board / सीबीएसई का इतिहास

भारत में स्थापित होने वाला पहला शिक्षण बोर्ड 1921 में Uttar Pradesh Board of High School and Intermediate Education (UP Board full form) बना, जो Rajasthan, Central India और Gwalior के क्षेत्राधिकार में था। सन 1929 में, भारत सरकार ने “Board of High School and Intermediate Education, Rajputana” नामक एक संयुक्त बोर्ड की स्थापना की। इसमें अजमेर, मेरवाड़ा, मध्य भारत और ग्वालियर शामिल हैं बाद में यह अजमेर, भोपाल और विंध्य प्रदेश में भी लाया गया था। सन् 1952 में, इसे “Central Board Of Secondary Education” (CBSE full form) नाम दिया गया ।

Exams conducted by Central Board Of Secondary Education / CBSE द्वारा आयोजित परीक्षाएं 

Central Board Of Secondary Education कक्षा 10 और 12 के final examinations को conducts कराती है। जिसके परिणाम मई के अंत तक घोषित कर दिए जाते हैं। CBSE पहले AIEEE के exams भी conduct कराती थी. जिससे candidates को engineering colleges में एडमिशन मिलते थे। बाद में AIEEE को JEE (Joint Entrance Exams) के साथ जोड़ दिया गया जिसको भी CBSE ही conduct कराती है। Read the Full Form B Tech & Means.

मौजूदा वक़्त में यह बोर्ड कई सारे exams को conduct कराती है। CBSE, AIPMT (All India Pre Medical Test), National Eligibility cum Entrance Test (NEET), Central Teacher Eligibility Test (साल में दो बार) UGC’s National Eligibility Test (साल में दो बार) और Jawahar Navodaya Vidyalayas के entrance test आदि  conduct कराती है। How to know CBSE 10th Result 2018.

 

Difference Between CBSE & ICSE Board / सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड में अंतर

CBSE vs ICSE : दोनों ही Board Of Education हैं पर इनमें कई सारे अंतर भी हैं।

CBSE National Level के कई सारे Exams को Conduct कराता है। यह भारत में सबसे पसंदीदा BOE है। यह अतिरिक्त विषय के साथ-साथ राष्ट्रीय पाठ्यक्रम का भी अनुसरण करता है। CBSE दो Exams को Conduct करता है – All India Secondary School Examination, AISSE (10वीं कक्षा) और All India Senior School Certificate Examination, AISSCE (12वीं कक्षा). CBSE का Syllabus NCERT Pattern पर बनता है।

जबकि Indian Certificate Of Secondary Education (ICSE Full Form) को CISCE या Council for the Indian School Certificate Examination द्वारा Conduct करवाया जाता है। उसी तरह इस तरह CBSE को AISSE द्वारा Conduct कराया जाता है। ICSE का SSC Level Exam भारत का Grade 10 का सबसे कठिन Exam माना जाता है।

Also know more about these full forms in IndiaInfoBiz:

UPSC Full Form / UPSC Kya hai.

IAS Full Form in Hindi / IAS Officer ka matlab?

SSC Full Form in Hindi / SSC Exams ki Jankari

Ph.D means & PHD Full Form Hindi

IBPS Full Form in Hindi / IBPS Means?

 

CBSE vs ICSE / दोनों में कुछ सामान्य अन्तर:

Medium of Instruction:

CBSE के जुड़े Schools English या Hindi माध्यम में से कोई भी हो सकते हैं जबकि ICSE Schools सिर्फ़ English माध्यम ही होते हैं।

Regular और Private Candidates:

CBSE से भारत में कई सारे Schools जुड़े हैं। CBSE की एक खास बात ये है कि इसमें पढ़ रहा विद्यार्थी Regular और Private Education में से चुन सकता हैं जबकि ICSE School में पढ़ रहे विद्यार्थी के पास ऐसा कोई विकल्प उपलब्ध नहीं होता। ICSE सिर्फ Regular Based Candidates को ही Admission देती है।

Board Recognition:

CBSE को भारत सरकार (Govt. of India) द्वारा recognize किया जाता है जबकि ICSE को नहीं। हालांकि CBSE और ICSE दोनों के Certificates को बराबर की मान्यता है फिर भी भारत में CBSE की Recognition ICSE से ज्यादा है। International Level पर दोनों ही बोर्ड बराबर मान्यता वाले होते हैं।

Curriculum/Course Content:

CBSE द्वारा बनाया गया Syllabus National Level पर हो रहे Exams में काफी मददगार होता है जिससे Students को काफी फ़ायदा मिलता है। जबकि ICSE का Syllabus काफी Detailed और बड़ा होता है और विद्यार्थी को काफी कुछ याद रखना पड़ता है। CBSE और ICSE का Syllabus काफ़ी अलग हैं फिर भी CBSE ICSE के मुकाबले काफी आसान है। CBSE का ज्यादातर भाग Science पर Focused होता हैं और काफी Knowledge Based होता है जबकि CISCE (ICSE) का Syllabus बहुत Balanced होता है और हर भाग पर बराबर ध्यान दिया जाता हैं जैसे Literature, Art आदि।

Assignments:

ICSE में Assignments Practical और Literal Based होती है जो कि Student की Practical Knowledge बढ़ाती है जबकि CBSE की ज्यादातर Assignments Literal होती है जिससे Student की Practical Knowledge नहीं बढ़ती।

Which is better CBSE or ICSE / सीबीएसई और आईसीएसई में बेहतर कौन है

ICSE और CBSE दोनों ही Board of education अपने अपने स्थान पर सही हैं। दोनों में कुछ खूबियां हैं तो कुछ कमियां। फिर भी अगर मोठे तौर पर देखा जाए तो CBSE ICSE से बेहतर है। CBSE द्वारा बनाया गया Syllabus National Level पर हो रहे Exams में काफी मददगार होता है जिससे Students को काफी फ़ायदा मिलता है।

CBSE भारत देश  में Recognized BOE जिससे Private Sector की नौकरी लेने में कोई परेशानी नहीं होती। CBSE का Exam Pattern Mind Knowledge पर based रहता है। ऐसे ही कई सारे कारणों से CBSE को ICSE से बेहतर कहा जा सकता है।

Official Website of CBSE

Dear Readers, इस लेख  में आपको Information about CBSE Full Form के साथ साथ आपको इसके बारे में तथा CBSE vs ICSE बोर्ड में अंतर क्या है ये भी जाने का मौका मिला.

अगर इस पोस्ट में कही कोई गलती हो तो हमें जरूर बताये और इसे सोशल मीडिया से जरूर शेयर करे. जिससे और लोग भी जान सके.

Originally posted 2018-03-29 21:18:11.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.