Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

DSP Full Form in Hindi | जानिए डीएसपी पुलिस क्या है?

दोस्तों आज आपको DSP Full Form in Hindi & info about DSP इसकी जानकारी इस पोस्ट में पब्लिश की  जा रही है. तो पढ़िए और जानिए DSP Kya hai?

What is DSP Full Form in Police / DSP का फुल फॉर्म हिंदी में क्या है?

DSP Full Form Police in Hindi

इन्ही में से एक होते हैं Deputy Superintendent of Police (Abbreviation – DSP), जिन्हें देश की रक्षा ज़िम्मेदारी दी जाती है। DSP एक पद है, जैसे किसी भी कंपनी में अलग अलग पद पर लोग काम करते हैं ठीक उसी तरह से पुलिस व्यवस्था में भी लोग अपने लिए निर्धारित पदों के अनुसार ही काम करते हैं। उनका वेतन, उनकी uniform , और उनके अलग अलग पद के अनुसार ही उनकी पहचान की जाती है। जैसा कि आप जानते हैं कि DSP Full Form – Deputy Superintendent of Police यानी कि सहायक पुलिस आयुक्त या फिर उप पुलिस अधीक्षक भी होती है। तो चलिए आज आपको DSP से जुड़ी सभी जानकारियों से अवगत करवाते हैं।

कैसे बन सकते हैं DSP ? / How to Become DSP in Hindi

एक देश में न जाने कितने ही नागरिक होते हैं जिनकी सुरक्षा की ज़िम्मेदारी देश के सरकार की होती है.  इस ज़िम्मेदारी को पूरा करने के लिए सरकार देश के कुछ सहज, सतर्क और ताकतवर लोगों का चुनाव करके देश में पुलिस के रूप में तैनात करती है ताकि वह पूरी ईमानदारी और लगन के साथ देश की रक्षा कर सकें।

भारत में administration jobs लेने के ज्यादातर 2 ही तरीके हैं, पहला या तो आपका प्रोमोशन हो और दूसरा तरीका है कि आप exam पास करके यहाँ तक पहुँचे। बिल्कुल इसी तरीके से police department में भी inspector से प्रोमोट होकर DSP बना जा सकता है। अगर आप सीधे तौर पर DSP बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको UPSC या State PSC exam पास करना पड़ता है।

Union Public Service Commission (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन – UPSC ka Full Form Hindi me) Kya hai:

यह संस्था केंद्रीय सरकार के अधीन होकर काम करती है और इसकी जिम्मेदारी भी बेहद गंभीर होती है। UPSC का काम होता है कि वह देश भर से अलग अलग विभागों के लिए कर्मचारियों का recruitment करे। यह संस्था India level के jobs के लिए exams लेती है। जैसे कि-

  1. Civil Services
  2. Indian Statistical services
  3. Geo – Scientists and Geologist services
  4. Economic service
  5. Special class railway apprentices
  6. Armed forces
  7. Indian Engineering
  8. Indian medical services

UPSC संस्था प्रत्येक वर्ष ऊपर दिए गए इन सभी services के लिए exam करवाती है। माना जाता है कि UPSC का exam clear कर पाना बेहद मुश्किल होता है और इस बात का अंदाज़ा इसके success rate को ही देख कर लगाया जा सकता है। UPSC exam का success rate हमेशा सिर्फ 0.3℅ ही रहता है।

Ye bhi janiye:

PCS ki Full Form Hindi Me

IAS ki Full Form Kya Hai

SSC ki Full Form Hindi Me Kya Hai

State Public Service Commission (स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन): 

State PSC, अगर इस संस्था की बात करें तो यह राज्य सरकार के अधीन होकर काम करती है। बता दें कि इसका काम भी देश भर से विभिन्न भागों के लिए कर्मचारियों का चुनाव करना ही होता है। हर राज्य की अपनी अलग अलग PSC होती है और यह केवल state level jobs के लिए exams लेती है जैसे कि-

  1. DSP
  2. Deputy collector
  3. SDM
  4. ADM
  5. Assistant director

DSP की Eligibility Criteria क्या है?

1- Deputy Superintendent of police बनने के लिए candidate का graduation पूरा होना बहुत ज़रूरी है। चुनाव के दौरान इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि candidate के percentage कितने हैं। ज़रूरी है की उनके पास bachelor degree होनी चाहिए।

इन Bachelor Degrees ki details janiye:

Padhiye BA course ka full form kya hai?

Janiye Bcom degree ka full form Kya hai

BSC ki full form Hindi me Janiye

2- जैसा कि आप जानते ही हैं कि हर राज्य की अपनी PSC होती है और वह PSC states में reservation के base पर DSP candidate की age limit और age relaxation को तय करते हैं। अगर उदाहरण के तौर पर देखा जाए तो आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में यह age limit 21 से 30 साल की होती है तो वहीं SC और ST categories के स्टूडेंट्स को कुल 5 साल की age relaxation भी दी जाती है।

3- Deputy Superintendent of Police (DSP full form) बनने के लिए जो UPSC और state PSC का exam होता है उनका pattern लगभग एक जैसा ही होता है। दोनो में बस फर्क इतना है कि UPSC में national level के questions आते हैं और State PSC में state level के questions पूछे जाते हैं जिसके हिसाब से UPSC का Exam ज्यादा मुश्किल माना जाता है।

4- UPSC और State PSC का DSP बनने के लिए जो process होता है उसमें सबसे पहले prelims देना होता है. उसके बाद mains clear करना पड़ता है और last में Interview लिया जाता है। इन तीनों test के अलावा एक physical test भी किया जाता है जिसमें पहले लंबाई नापी जाती है और फिर एक रेस होती है जिसके बाद अंत में chest का Measurement लिया जाता है।

UPSC में किसके लिए कितने Attempts होते हैं?

  • General category – 6
  • OBC category. – 9
  • ST/SC. – Unlimited

DSP का Training Process क्या है?

अगर कोई भी candidate UPSC exam पास करके DSP बनता है तो उन्हें 1 साल की training दी जाती है। वहीं अगर कोई भी candidate State PSC exam clear करके DSP बनता है तो पुलिसकर्मियों की academy में उन्हें 2 साल की training लेनी पड़ती है।

कैसे होता है DSP का Promotion?

बात दें जहाँ UPSC वाले candidate का promotion हर 2 साल में होता है और 4 साल में UPSC clear करके DSP बना candidate ACP बन जाता है. तो वहीं State PSC वाले candidate का promotion थोड़ा slow होता है. जिसके आधार पर State PSC वाले candidate कुल 9 साल में ACP बन सकते हैं।

UPSC pass किये हुए candidate को ASP कहा जाता है और State PSC pass किये हुए candidate को DSP कहा जाता है। यूँ तो दोनों का ही काम एक जैसा ही होता है लेकिन जो सबसे बड़ा फर्क इन्हें एक दूसरे से अलग करता है. वह यह है कि इनके अधिकार चिन्ह यानी insignia अलग अलग होते हैं। DSP के shoulder पर सिर्फ Three silver stars होते हैं तो वहीं ASP के shoulder पर Three silver stars तो होते ही हैं लेकिन साथ ही उसके नीचे IPS भी लिखा हुआ होता है. जो कि उनके रुतबे को और भी बढ़ा देता है।

Know more about DSP in Wikipedia`     .

दोस्तों उम्मीद है कि यह Full Form of DSP & other details के बारे में आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और इसके जरिये DSP full form & Info about DSP in Hindi के बारे में और उनसे जुड़ी आपको सभी ज़रूरी जानकारियां मिल गयी होंगी। दोस्तों हम आशा करते हैं कि यह आर्टिकल आपके लिए सहायक साबित हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.