What is GST Full Form in Hindi { जीएसटी का फुल फॉर्म & अर्थ }

Goods and Services Tax / वस्तु एवं सेवा कर {GST full form in Hindi }:

What is GST Full Form + Meaning in Hindi

क्या आपको पता है की हमको अब हर चीज़ पर GST देना पड़ रहा है? किसी अच्छे रेस्टोरेंट में खाना खाने से ले कर किसी भी चीज़ की खरीदी तक, हर चीज़ पर हम Indians को GST देना पड़ रहा है. Parliament of India में हमने इसके ऊपर काफी हंगामा भी होते देखा है. इन सब के बावजूद कई लोग अनभिज्ञ हैं की आखिर जीएसटी है क्या? क्योकि उनका अभी इससे कोई लेना देना नहीं है, लेकिन आज आपको इसके बारे में जानकारी देंगे और इसे आसानी से explain & define करने की कोशिश करेंगे.

दोस्तों इस पोस्ट में आपको यह सब explain करेंगे, जिससे आपको Goods & Services Tax (full form of GST) ki jankari हो जाएगी :

  • What is GST full form in Hindi?
  • What is GST meaning in Hindi?
  • Benefits & Component of GST.
  • History of GST in India.

चलिए, हम जानते हैं कि आखिर वास्तव में GST है क्या और इसके क्या आयाम और फायदे हैं.

What is GST (Goods and Services Tax)? / वस्तु एवं सेवा कर क्या है?

GST वास्तव में एक अप्रत्यक्ष कर है जो की भारतीय सरकार किसी भी वस्तु और सेवा की बिक्री पर वसूल करती है. 1 जुलाई, 2017 से भारत सरकार ने सभी अलग-अलग अप्रत्यक्ष करों को हटा कर, एक कर की व्यवस्था लागू की है और उस एक कर को कहते हैं GST (Goods and Services Tax). इस कर व्यवस्था के तहत, अब बिक्री के हर एक सिरे पर, केवल एक कर लागू किया जाता है, जिसे GST कहते हैं.

Also Read other full forms in Hindi:

EMI Full Form in Hindi

What is Bharat / India Full Form

ATM Machine Full Form in Hindi

What is the GST full form and It’s meaning in Hindi? / GST का फुलफॉर्म & अर्थ

GST ka Full Form – Goods and Services Tax (वस्तु एवं सेवा कर) है . GST की परिभाषा कहती है की GST एक व्यापक, बहु-स्तरीय और गंतव्य आधारित (destination based) tax है. यह कर प्रत्येक मूल्य में जोड़ कर लगाया जाता है.

GST Meaning in Hindi जैसा की GST नाम से ही define होता है की यह कर वस्तु उत्पादन (production or value addition of goods) या सेवाओं (services) पर लगाया जाता है. पर इसको समझना इतना आसान नहीं है. आइये इसको कुछ आसानी शब्दों में आपको बताते हैं:

कोई भी वस्तु (goods) consumer के हाथ में पहुँचने से पहले बहुत सी processes से गुज़रती है जैसे:

1. कच्चे माल का एकत्रिकरण, फिर उसकी छंटाई या फिर उससे कुछ निर्माण.
2. निर्माण के बाद उत्पाद/ product को सहेजना.
3. उसके बाद रिटेलर/होलसेलर तक उस product को पहुंचाना.

तो जैसा की आप देख सकते हैं की product को consumer तक पहुंचाने के बहुत से steps है और हर step पर ही GST लागू होता है. उपरोक्त उत्पाद की बिक्री तक करीबन पाँच जगह GST लागू होता है. वो पाँच चरण हैं:

  1. कच्चे माल की खरीद
  2. उत्पाद का उत्पादन और संग्रह
  3. उत्पाद की होल्सेलर को बिक्री
  4. होलसेलर के द्वारा रिटेलर को बिक्री
  5. रिटेलर के द्वारा अंतिम उपभोक्ता को बिक्री

What is Value Addition in Goods & Service Tax (GST ka Full Form)?

इस श्रंखला को देख के GST के बहु-स्तरीय टैक्स (multi-level tax of India) होने में कोई संशय नहीं है. अब परिभाषा में दूसरा शब्द है ‘वैल्यू एडीशन’ (value addition), इसे इसलिए किया जाता है ताकि पूरे मूल्य की वसूली उपभोक्ता से हो सके और उत्पादक को अपनी जेब में से एक रुपया भी ना देना पड़े.

1- Example of Value Addition in GST Meaning in Hindi: समझने के लिए हम सिलाई का काम ले सकते हैं. सिलाई में हम किसी और का कपड़ा लेते हैं और अपनी सेवा और मशीन का उपयोग करते हैं. अब हम कपड़ा देने वाले से हमारी सेवा का मूल्य लेते हैं और साथ ही बिजली पर हुए खर्चे या अन्य कोई लगाए हुए कपडे का भाव भी जोड़ देते हैं. ये है ‘वैल्यू एडीशन, इस पर ही Indian Government GST लगाती है.

GST गंतव्य आधारित (destination based) भी है, जब किसी वस्तु अथवा सेवा अपने उत्पादन की जगह छोड़ कर बिक्री के लिए कहीं और चली जाती है तो उसकी बिक्री (अंत में) के समय का राजस्व किसे मिलेगा. इस सम्बन्ध में सरकार ने यह तय किया है की अंत में बिक्री करने वाले स्टेट को ही बिक्री पर होने वाले GST का लाभ मिलेगा.

2- Example of Destination Based – Meaning of GST in Hindi: अगर कोई उत्पाद बना तो गुजरात में है, पर बिका दिल्ली में है, तो उसकी उपभोक्ता को बिक्री के वक़्त लगाया हुआ GST दिल्ली को ही मिलेगा, ना की गुजरात को.
हमें लगता है की GST क्या है और उसे कैसे लागू किया जाता है, यह अब आपको स्पष्ट को गया होगा.

What are the different components of GST? / इसके विभिन्न घटक क्या हैं?

GST के दो मुख्य हैं –
• सेंट्रल जीएसटी (सीजीएसटी) – Central Goods & Services Tax (CGST)
• राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) – State Goods & Services Tax (SGST)

जैसा की पहले ही बताया, केंद्र और राज्य दोनों ही मूल्य श्रंखला में GST लगायेंगे. केंद्र CGST वसूल करेगी, तथा राज्य SGST वसूल करेगा.

परन्तु अंतर-राज्य लेनदेन और बिक्री के समय, केंद्र एकीकृत माल और सेवा कर (आईजीएसटी – IGST) वसूल करेटी. ये IGST, CGST और SGST को जोड़ कर प्राप्त किया जाता है.
एक चालान में या तो आपको IGST मिलेगा या फिर CGST और SGST. ये तीनों कर कभी भी किसी भी चालन में एक साथ नहीं होते.

Goods & Services Tax (GST ka full form) Online Registration ki official website : https://services.gst.gov.in/

Top 10 Benefits of GST (Goods & Services Tax के लाभ क्या हैं)

GST India के लिए बहुत लाभदायक है और इससे अनेक फायदे जुड़े हैं जैसे:

1. विभिन्न करों से मुक्ति
2. पैसे की बचत
3. व्यापार करने की आसानी
4. कर का आसानी से भुगतान तथा दस्तावेज़िकरण
5. व्यापक कर प्रभाव में कमी (क्योंकि GST केवल मार्जिन अमाउंट पर ही दिया जाता है, अतः व्यापक कर प्रभाव में कमी आती है और उत्पाद का मूल्य कम हो जाता है).
6. ज्यादा रोज़गार के अवसरों का सृजन
7. GDP के स्तर में वृद्धि.
8. कर चोरी में कमी
9. उत्पादन में अधिक प्रतिस्पर्धा
10. राजस्व में वृद्धि

History of GST in India & Law for it / इसका इतिहास और क़ानून

भारत में GST अपनाने का सुझाव सबसे पहले श्री अटल बिहारी जी की सरकार ने सन 2000 में दिया था. ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैण्ड, कनाडा, सिंगापुर और मलेशिया आदि सभी देशों में GST की सार्थकता को देखते हुए 2006 में भारत के वित्तमंत्रि ने 1 April 2010 को GST परिचय तिथि निर्धारित किया. 1 April 2010 को सरकार ने मिशन-मोड प्रोजेक्ट पेश किया जिसने जीएसटी की नींव रखी. About LLB Full Form

भारत के नए वित्तमंत्री श्री अरुण जेटली ने 2014 में संसद में संविधान (122 वां संशोधन) विधेयक पेश किया. सितम्बर 2016 में माननीय राष्ट्रपति ने इस विधेयक को Act / Law बनने की स्वीकृति दे दी. 1 July 2017 से GST कानून लागू हो गया. जीएसटी से जुड़े चार बिल अधिनियम (Acts for GST in India) बन गए:

• केंद्रीय जीएसटी विधेयक
• एकीकृत जीएसटी विधेयक
• संघ शासित प्रदेश जीएसटी विधेयक
• जीएसटी (राज्यों के लिए मुआवजा) विधेयक.

Dear Readers! अब आपको यह जानकारी हो गयी होगी की GST Full Form kya hai और इसके साथ साथ What is GST Meaning in Hindi से सम्बंधित आपके प्रश्नों के जवाब आपको मिल गए होंगे. अगर आपको इस पोस्ट में कोई गलती दिखाई दे तो है बताइए कोम्म्नेट करिए हम इसे ठीक कर देंगे.

दोस्तों , कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और ग्रुप्स में जरूर शेयर करे ताकि लोग GST kya hai hindi में जान सके. दूसरों के साथ शेयर करने में भी आप एक तरह की समाज सेवा कर देते है. जिससे काफी लोगों को फायदा होता है. आपको थोडा समय हमारे लिए बहुमिल्या है.

इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करके, अपने मेल पर इसके लेटेस्ट updates पढ़िए और ज्ञान बढाइये.

धन्यवाद्.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.